अगर आप भी सिगरेट की लत से परेशान है तो इसके दुष्परिणाम भी जान ले

By | October 26, 2018

धूम्रपान की लत आपको बीमार और बीमार बना सकती है | इस प्रकार के विज्ञापन तो आपने बहुत देखे होंगे | लेकिन क्या आप जानते है सिगरेट का सेवन आपको मानसिक रूप से भी कमजोर बनाता है | जी हाँ, धूम्रपान करने वाला व्यक्ति शारीरिक रूप से तो सेंकडों बिमारियों को जन्म देता ही है साथ ही मानसिक रूप से भी विकृत होने लगता है | धूम्रपान(Cigrate Pine ke Nuksan) की लत से पीड़ित व्यक्ति यदि समय पर धूम्रपान न करें तो उसका स्वभाव चिडचिडा होने लगता है | शीघ्र ही गुस्सा होने लगता है | मन की एकाग्रता को पूर्णतया तब तक खो देता है जब तक कि उसे धूम्रपान का सेवन उपलब्ध नहीं हो जाता |

सिगरेट पीने वाले लोग ना सिर्फ शीघ्र बीमार होने लगते है बल्कि शीघ ही मौत के शिकार होने का भी खतरा ऐसे लोगों पर बना रहता है | सिगरेट पीने कुछ जानलेवा बीमारियाँ जैसे : – हार्ट अटैक, कैंसर, शुगर, बी.पी . ये सभी रोग होने का भय रहता है |

Cigrate Pine ke Nuksan

इस समय सिगरेट पीना सबसे अधिक खतरनाक होता है : –

वैसे तो सिगरेट का सेवन करना हर समय खतरनाक ही होता है | लेकिन कुछ समय ऐसे भी होते है जिस समय यदि सिगरेट पी जाये तो यह 10 गुना अधिक हानिकारक सिद्ध होती है | जैसे खाना खाने के तुरंत बाद सिगरेट का सेवन करना, सिगरेट पीने वालो में खाना खाने के तुरंत बाद सिगरेट पीने वालों की संख्या बहुत अधिक है | लेकिन डॉक्टर्स के अनुसार यदि आप खाना खाने के 30 मिनट के अंदर यदि आप सिगरेट का सेवन करते है तो समझ लीजिये आप 10 गुणा अधिक बीमारियों को न्योता दे रहे है | खाना खाने के 30 मिनट बाद आप सिगरेट(Cigrate Pine ke Nuksan) का सेवन करते है तो यह सामान्य मात्रा में ही नुकसान करती है |

सुबह-सुबह खाली पेट सिगरेट का सेवन करना भी सामान्य के मुकाबले 10 गुना अधिक हानिकारक माना गया है | कुछ लोगों का ऐसा मानना है कि सुबह-सुबह खाली पेट सिगरेट का सेवन करने से शौच आदि ठीक से आती है और पेट अच्छे से साफ़ हो जाता है साथ ही नींद भी अच्छे से खुल जाती है | लेकिन क्या आप जानते है आपका यह पाचन तंत्र आपकी नियमित दिनचर्या के अनुसार कार्य करता है(Cigaret Pine se Nuksan) | इसको आप जिस प्रकार की आदत डालोगे यह उसी प्रकार से कार्य करेगा | यदि आप सुबह-सुबह गरम पानी पी कर शौच जाने की आदत बना लेते है तो शरीर को उसी की आदत हो जाती है | यदि आप कुछ देर घूमने के बाद शौच का नियम बनाते है तो पेट को वैसी ही आदत हो जाती है |

ऐसे में सिगरेट पी कर शौच अच्छे से आएगी इसमें कोई समझदारी वाली बात नहीं लगती | इसलिए खाली पेट भी सिगरेट को ना कहना चाहिए |

Cigrate Pine ke Nuksan

धूम्रपान करने के हानिकारक परिणाम : –

फेफड़ों का कैंसर : –

फेफड़ों का कैंसर होने का खतरा एक सामान्य व्यक्ति को बहुत ही कम होता है लेकिन यदि आप धूम्रपान करते है तो फेफड़ों का कैंसर होने का खतरा कई गुना बढ़ जाता है | एक रिसर्च में पाया गया है कि 90 % फेफड़ों के कैंसर का कारण सिर्फ धूम्रपान है |

हार्ट अटैक- बी.पी. : –

आज के समय में समाज में बहुत से लोग ह्रदय घात जैसी बीमारी के शिकार हो रहे है | जो रोगी को डॉक्टर्स के पास पहुचने का ही समय नहीं देता और सीधे आपको यमलोक पंहुचा देता है | सिगरेट में निकोटीन के साथ-साथ और भी बहुत से जहरीले रसायन होते है जो हार्ट अटैक का कारण बनते है | अगर आप धूम्रपान करते है तो ह्रदय घात होने की समस्या आपको सामान्य से 3 गुणा अधिक हो जाती है |

मधुमेय होने का खतरा : –

अधिक धूम्रपान करने वाले लोगों में टाइप 2 मधुमेय होने खतरा अधिक रहता है | मधुमेय एक ऐसा स्लो पाइजन है जो अकेला नहीं आता अपने साथ-साथ और भी बहुत सी बिमारियों को साथ लेकर आता है |

उपरोक्त बीमरियों के अतिरिक्त धूम्रपान करने से आँखों की बीमारी, शरीर में प्रजनन क्षमता कम हो जाना, पेट की समस्या जैसे : एसिडिटी, गैस, पेट में भारीपन होना, अल्सर, घाव न भरना, जल्द बुढ़ापा आना इस प्रकार की बीमारियाँ होना सामान्य सी बात है (Cigrate Pine ke Nuksan)|

सिगरेट छोड़ने का उपाय : –

बाजार में ऐसी कोई दवा आजतक नहीं बनी है जिसे लिए और कल से ही सिगरेट की लत छूट जाए | सिगरेट की लत आपके दिमाग को अपने नियंत्रण में ले लेती है | जो लोग समझ चुके है कि वास्तव में सिगरेट पीना उसके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है और वह उसे छोड़ना चाहता है | तो समझ ले उसकी जंग खुद से है | ये समझ ले कि आपके मष्तिष्क को गुलामी का आदत हो चुकी है | अब सिगरेट एक राजा है और आपका मष्तिष्क उसका गुलाम जिसे वह अपने अनुसार चला रही है |

इसके पीछे सबसे बड़ा कारण सिगरेट में निकोटीन तत्व का होना है | निकोटीन एक ऐसा पदार्थ है जिसकी लत लगने पर व्यक्ति इसके बिना नहीं रह सकता | इसके शरीर में जाने से शरीर में जो हल्का नशा होता है व्यक्ति उसका गुलाम बनकर रह जाता है |

सिगरेट छोड़ने का सरल सा उपाय है कि अपने मष्तिष्क को एक नई दिशा दे दे | पहले तो ऐसे दोस्तों का साथ छोड़ दे जिसके साथ होने पर आपको सिगरेट पीने का मन करता है या फिर जो आपको ऐसा करने पर उकसाते हो | अपनी दिनचर्या कको पूर्णरूप से बदल दे | हर प्रकार से अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक हो जाए | जैसे : संतुलित भोजन करना, समय पर खाना, समय पर सोना, सुबह-सुबह सैर आदि पर जाना, योग करना, व्यायाम करना, excercise करना, शरीर को तंदरुस्त रखने के विषय में अधिक से अधिक जानकारी एकत्र करना और दूसरों को इसके बारे में बताते रहना |

जब आप दूसरों को शरीर को स्वस्थ रखने के विषय में जानकारी देने लग जायेंगे तो समझ जाए कि अब आपने अपने मष्तिष्क को सिगरेट छोड़ने के काबिल बना लिया है(Cigrate Pine ke Nuksan) |

2 thoughts on “अगर आप भी सिगरेट की लत से परेशान है तो इसके दुष्परिणाम भी जान ले

  1. Azad

    Nice blog…i really enjoyed while reading your post. such a nice experience shared. Thank you for sharing…

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *